Digital clock

Friday, 11 May 2012

Distt kaithal me jbt trs cm k naam gypan dete hue sabhi blocks me




प्राथमिक शिक्षक संघ ने मुख्यमन्त्री को भेजा मांगपत्र

Posted On May - 11 - 2012

खण्ड शिक्षा अधिकारी गुहला को मांग पत्र सौंपते हुए प्राथमिक शिक्षक संघ गुहला के अध्यापक। - निस
गुहला-चीका, 10 मई (निस)। राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ सम्बन्धित अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ के खण्ड गुहला प्रधान कुलदीप सिंह नैन के नेतृत्व में अध्यापकों ने अपनी मांगों का एक पत्र खण्ड शिक्षा अधिकारी रामकुमार रंगा के माध्यम से हरियाणा के मुख्य मन्त्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के पास भेजा । पत्रकारों से बातचीत करते हुए अध्यापक संघ के प्रेस सचिव रामपाल भाटिया ने बताया कि प्राथमिक शिक्षक संघ हरियाणा ने आज सभी 119 खण्डों पर अपनी मांगों के समर्थन में धरना प्रदर्शन किया और सभी शिक्षकों की जायज मांगों के बारे में खण्ड शिक्षा अधिकारियों से बैठक कर ज्ञापन सौंपे गए। उन्होंने कहा कि वर्ष 2000 में लगे शिक्षकों की ए.सी.पी., वरिष्ठता सूची बनाना, कन्फर्म सूचि, एल.टी.सी.देना, पाठ्यपुस्तकों की उपलब्धता समयबद्ध हो, खेलबजट प्राईमरी देना, 2008 मे ंलगे अध्यापकों को पर्सनल पे देना आदि उनकी मुख्य मांगे हैं । उन्होने बताया कि खण्ड शिक्षा अधिकारी ने शिक्षकों से समक्ष आ रही सभी जायज समस्याओं का 15 दिन में हल करने का आश्वासन भी दिया। इस अवसर पर खण्ड सचिव रामजी लाल, जोगिन्द्र राणा, सुरजीत राम, बंसीलाल, सुनील दत्त, रोहताश, शमशेर सिंह, राजपाल, मनदीप सिंह, दिनेश, मिश्रा राम, चांदीराम, सुनील राणा, कर्मजीत भूना, नरेश कालिया, कर्मबीर, परमेशकुमार, रणधीर सिंह, सुरेन्द्र कुमार, रामफल व चांद राम सहित दर्जनों अध्यापक मौजूद थे।

प्राथमिक शिक्षकों ने किया बीईओ कार्यालय पर प्रदर्शन

Posted On May - 11 - 2012

राजौंद में खण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते शिक्षक। - निस
राजौंद, 10 मई (निस)। राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ हरियाणा के आह्वान पर यहां खण्ड कार्यालय पर जेबीटी अध्यापकों ने खण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन की अध्यक्षता खण्ड प्रधान सुरेन्द्र धानिया ने की।
प्रदर्शन में संघ के जिला प्रधान रोशन लाल पवार ने अध्यापकों को एकजुटता का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि सरकार प्राथमिक शिक्षकों के हितों के साथ लगातार खिलवाड़ कर रही है।
हजारों पद पदोन्नति के खाली होने के बाद भी प्राथमिक शिक्षकों की पदोन्नतियां नहीं जा रही है तथा पदोन्नति में पात्रता परीक्षा की शर्त लगाकर अध्यापकों का शर्त लगाकर तथा पदोन्नति कोटे में कटौती करके अध्यापकों का शोषण कर रही है जिसे प्राथमिक शिक्षक संघ किसी भी कीमत पर सहन नहीं करेगा। जिला प्रधान ने कहा कि सरकार शिक्षा का अधिकार लागू करके तो वाहवाही लूटना चाहती है लेकिन खुद ही छात्र शिक्षक अनुपात 1:30 करने के बजाय 1:40 करके अधिनियम का मजाक उड़ा रही है जिससे प्राथमिक शिक्षकों के हजारों पद समाप्त हो गए हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा सत्र शुरू हुए डेढ़ महीना बीतने के बाद भी स्कूलों में पुस्तकें न पहुंचना सरकार व शिक्षा विभाग की कार्यकुशलता पर प्रश्न चिन्ह लगाता है। एलटीसी अध्यापकों को अभी तक नहीं दी गई है जबकि इसके लिए कार्यालय को बजट प्राप्त हो चुका है। जिला प्रधान ने कहा कि मांगों को पूरा करवाने के लिए 22 मई को जिला स्तरीय प्रदर्शन किए जाएंगे तथा फिर भी मांगें पूरी नहीं की गई तो 10 जुलाई से शिक्षा सदन पंचकूला पर क्रमिक अनशन शुरू किया जाएगा जो मांगें पूरा होने तक चलेगा। इन मांगों का ज्ञापन संघ पदाधिकारियों ने जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी व मुख्यमंत्री के नाम बी.ई.ओ दलीप सिंह को सौंपा। प्रदर्शनकारियों को पूर्व खण्ड प्रधान राजपाल करोड़ा, संजय राणा ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर संजय मलिक, बलविन्द्र सिंह, कर्मबीर जांगड़ा, जोगिन्द्र, जोगी राम, ओमप्रकाश कुण्डू, धर्मसिंह मंडवाल, राजेन्द्र, राजेश मित्तल, सतेन्द्र, सुरजीत सौंगल, महाबीर अटवाल, रामपाल, बलविन्द्र, अनिल कैरों आदि अध्यापक उपस्थित थे।



No comments:

Post a Comment